प्लेन टेबल सर्वेक्षण में प्रयोग होने वाला उपकरण की विवेचना

प्लेन टेबल सर्वेक्षण में प्रयोग होने वाला उपकरण की विवेचना 

 प्लेन टेबल सर्वेक्षण एवं उपकरण

भूमि सर्वेक्षण में कई उपकरण उपयोग किया जाता है जब कभी क्षेत्र की स्थिति को पेपर पर उतारा जाना हो तो इसके लिए प्लेन टेबल की आवश्यकता होती है। इस पद्धति में, ट्राइपॉड पर लगे ड्राइंग बोर्ड के समान मुख्य उपकरण प्लेन टेबल होता है। प्लेन टेबल पर एक ड्राइंग शीट लगाई जाती है, भूमि पर वस्तुओं का अवलोकन किया जाता है, दूरियों को मापा जाता है और वस्तुओं को फ़ील्ड में ही माप कर ड्राइंग शीट पर प्लॉट किया जाता है। चूंकि प्लॉटिंग क्षेत्र में ही की जाती है, इसलिए इस सर्वेक्षण में किसी भी आवश्यक माप को छोड़ने की कोई संभावना नहीं होती है। हालांकि इस प्रकार के सर्वेक्षण में हासिल की गई सटीकता कम है। इसलिए इस प्रकार के सर्वेक्षण का उपयोग अन्य तरीकों से पहले से तय किए गए सर्वेक्षण स्टेशनों के बीच विवरण भरने के लिए किया जाता है।

 इस लेख में, आवश्यक सहायक उपकरण, कार्य संचालन और प्लेन टेबल सर्वेक्षण के तरीकों की व्याख्या की गई है। अंत में इस पद्धति के फायदे और सीमाएं सूचीबद्ध हैं। प्लेन टेबल और उसके सहायक उपकरण सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली प्लेन टेबल चित्र में दिखाई गई है। इसमें एक अच्छी तरह से अनुभवी लकड़ी का टेबल टॉप होता है जो एक तिपाई पर लगा होता है। टेबल टॉप ऊर्ध्वाधर अक्ष के चारो ओर स्वतंत्र रूप से घूम सकता है। जब भी आवश्यक हो प्लेन टेबल को वांछित अभिविन्यास में स्थापित किया जा सकता है। त्रिपाद को समायोजित करके प्लेन टेबल समतल किया जाता है। 

प्लेन टेबल सर्वेक्षण में उपयोग किए जाने वाले उपकरण

प्लेन टेबल सर्वेक्षण करने के लिए निम्नलिखित एक्सेसरीज या उपकरण की जरूरत होती है: 

                            

1. एलिडेड

2. प्लम बॉब

3. स्प्रिट लेवल

4. ट्रफ कंपास 

5 प्लेन टेबल

6 ट्राइपोड

7. ड्राइंग शीट और ड्राइंग के लिए सहायक उपकरण।  


1.एलिडेड:

यह एक सीधी धार वाला प्लेन टेबल सर्वेक्षण का महत्वपूर्ण उपकरण है। जिसमें किसी न किसी प्रकार का देखने वाला उपकरण होता है। एलिडेड के एक किनारे को उकेरा जाता है और अंकन किया जाता है। हमेशा इस किनारे का उपयोग दृष्टि की रेखा खींचने के लिए किया जाता है। दृष्टि की रेखा के प्रकार के आधार पर दो प्रकार के एलिडेड होते हैं: 

(a) प्लेन एलिडेड 

(b) टेलीस्कोपिक एलिडेड 

a) प्लेन एलिडेड: 

एक विशिष्ट सादा एडिडेट दिखाता है। एलीडेड के प्रत्येक छोर पर एक दृष्टि फलक प्रदान किया गया है। संकीर्ण छिद्र वाला फलक नेत्र फलक के रूप में कार्य करता है और दूसरा चौड़ा छिद्र वाला और इसके केंद्र में एक पतला तार होने से वस्तु फलक के रूप में कार्य करता है। दोनों फलको को रूलर के सिरों पर टिका दिया गया है ताकि उपयोग में न होने पर उन्हें स्केल पर मोड़ा जा सके। पहाड़ी क्षेत्रों का सर्वेक्षण करने के लिए मैदानी अलिडेड उपयुक्त नहीं है क्योंकि इस मामले में दृष्टि की रेखा का झुकाव सीमित है।  

b) टेलीस्कोपिक एलिडेड: 

इसमें एक टेलिस्कोप होता है जो रूलर से जुड़े कॉलम पर लगा होता है। दूरबीन के माध्यम से लाइन ऑफ साइट को रूलर के बेवल वाले किनारे के समानांतर रखा जाता है। टेलीस्कोप में एक लेवल ट्यूब और वर्टिकल ग्रेजुएशन आर्क दिया जाता है। यदि क्षैतिज दृष्टि की आवश्यकता होती है तो लेवल ट्यूब में बुलबुला केंद्र में रखा जाता है। यदि लेवल ट्यूब का बुलबुला केंद्र में नही है तो उसे ट्राइपॉड की सहायता से सूक्ष्मता से लेवल कर लिया जाता है।

2.प्लंबिंग फोर्क और प्लंब बॉब:

प्लंबिंग फोर्क एक यू-आकार का धातु फ्रेम है जिसमें ऊपरी क्षैतिज भुजा और निचली झुकाव वाली भुजा होती है। ऊपरी भुजा को अंत में एक सूचक के साथ प्रदान किया जाता है जबकि निचली भुजा को प्लंब बॉब को निलंबित करने के लिए एक हुक प्रदान किया जाता है। जब प्लंबिंग फोर्क को प्लेन टेबल पर रखा जाता है तो वर्टिकल लाइन (प्लम्ब बॉब की लाइन) ऊपरी बांह के नुकीले किनारे से होकर गुजरती है। प्लंब बॉब ग्राउंड पॉइंट को ड्राइंग शीट पर स्थानांतरित करने में मदद करता है और इसके विपरीत भी।  

3.स्पिरिट लेवल:

सर्वे के दौरान समतल टेबल को समतल करने के लिए एक फ्लैट आधारित स्पिरिट लेवल का उपयोग किया जाता है। सही स्तर प्राप्त करने के लिए, किसी भी दो परस्पर लंबवत दिशाओं में इसकी स्थिति के साथ जाँच करने पर स्पिरिट लेवल को बबल ट्यूब के लिए केंद्रीय स्थिति दिखाना चाहिए। 

4.ट्रफ कंपास:

इसमें एक 80 से 150 मिमी लंबा और 30 मिमी चौड़ा बॉक्स होता है जिसके केंद्र में एक स्वतंत्र रूप से निलंबित सुई होती है। सुई के सिरों पर केंद्र के दोनों ओर शून्य से पांच डिग्री इंगित करने के लिए बॉक्स पर अंकन चिह्नित किए जाते हैं। हवा से सुई के दोलन को रोकने के लिए बॉक्स में ग्लास टॉप दिया गया है। जब सुई केंद्र में होती है (0-0 पढ़ती है), सुई की रेखा बॉक्स के किनारे के समानांतर होती है। इसलिए इस अवस्था में किनारों पर निशान चुंबकीय उत्तर-दक्षिण दिशा को दर्शाता है। इससे प्लेन टेबल का दिक्स्थापन किया जाता है।

5 प्लेन टेबल:

यह एक समतल बोर्ड होता है जिस पर ड्राइंग शीट रखकर क्षेत्र में कार्य किया जाता है। यह बोर्ड ट्राइपॉड पर अच्छी तरह से जुड़ा हुआ रहता है या पूरी तरह समतल रहता है। जिससे कार्य आसान हो जाती है।



6 ट्राइपॉड:

ट्राइपॉड की सहायता से समतल बोर्ड को एक निश्चित ऊंचाई पर स्थापित किया जाता है। इसमें तीन पैर होते है जिसका निचला शिरा नुकीला होता है तथा तीनों पैर का दूसरा शिरा ऊपर एक स्थान पर मिलते है जिस पर समतल बोर्ड स्थापित किया जाता है। ट्राइपॉड की ऊंचाई को चलायमान स्क्रू की सहायता से घटाया बढ़ाया जा सकता है। बोर्ड को लगभग समतल की स्थिति इसी ट्राइपॉड की सहायता से किया जाता है।

7.ड्राइंग शीट और ड्राइंग के लिए सहायक उपकरण समतल: 

टेबल सर्वेक्षण के लिए एक अच्छी गुणवत्ता, अनुभवी ड्राइंग शीट का उपयोग किया जाता है। उपयोग में न होने पर ड्राइंग शीट को रोल किया जा सकता है, लेकिन इसे कभी भी मोड़ा नहीं जाता है। महत्वपूर्ण कार्यों के लिए फाइबर ग्लास शीट या पतली एल्युमिनियम शीट वाले कागज का उपयोग किया जाता है। प्लेन टेबल पर ड्राइंग शीट को फिक्स करने के लिए क्लिप क्लैम्प्स, एडहेसिव टेप्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। पेंसिल पॉइंट को शार्प रखने के लिए शार्प हार्ड पेंसिल, अच्छी क्वालिटी का इरेज़र, पेंसिल कटर और सैंड पेपर ड्राइंग के काम के लिए आवश्यक अन्य सामान हैं। यदि आवश्यक हो, तो ड्राइंग शीट को बारिश और धूल से ढकने के लिए प्लास्टिक शीट ले जानी चाहिए।




Post ID: NTS00008

Subject: Surveying08





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ